Hindi Shayari

Hindi Shayari :-
हमारे हैण्ड में तुम्हारी शक़्ल मून जैसी थी,
तुम्हें ये हम कैसे बताएं वो नाईट कैसी थी.

महक रहे थे मिरे होंठ उसकी ख़ुश्बू से,
अजीब आग थी बिलकुल गुलाब जैसी थी..

आयु और लाइफ में बस फ़र्क इतना हे,
जो दोस्तों के बिना बीती वो आयु,
और जो दोस्तों के साथ गुज़री वो लाइफ.

सिसकियाँ लेता हे वजूद मेरा गालिब,
नोंच नोंच कर खा गई तेरी याद मुझे.

एक अलौकिक लड़ाई,
हो गयी हे, तेरी यादों की वजह से,
हमारी आँखे कहती हे सोने दे,
और दिल कहता हे, आज फिर से हमें रोने दे.

अपनी यादें अपनी बातें लेकर जाना भूल गये,
जाने वाले जल्दी में मिलकर जाना भूल गये.

पीछे मुड़के के देखा था जाते वक़्त रास्ते में उसने,
कुछ तो जरूरी था, जो वो हमें बताना ही भूल गये.
कम्भख्त ये वक़्त भी रो रहा था हमारी बेबसी पर,
उनके आंसू तो गायब हो गये, शायद वो बाहर ही आना भूल गये.

Hindi Shayari

हाथ ख़ाली हैं तेरे शहर से जाते जाते,
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते,
अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है,
उम्र गुज़री है तेरे शहर में आते जाते.

आग के पास कभी मोम को लाकर देखूं,
हो इज़ाज़त तो तुझे हाथ लगाकर देखूं,
दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है,
सोचता हूँ तेरी तस्वीर लगाकर देखूं.

अब जो बाज़ार में रखे हो तो हैरत क्या है,
जो भी देखेगा वो पूछेगा की कीमत क्या है,
एक ही बर्थ पे दो साये सफर करते रहे,
मैंने कल रात यह जाना है कि जन्नत क्या है.

फैसला जो कुछ भी हो, हमें मंजूर होना चाहिए,
जंग हो या इश्क हो, भरपूर होना चाहिए,
भूलना भी हैं, जरुरी याद रखने के लिए,
पास रहना है, तो थोडा दूर होना चाहिए.

जुबा तो खोल, नज़र तो मिला, जवाब तो दे,
में कितनी बार लुटा हु, मुझे हिसाब तो दे,
तेरे बदन की लिखावट में हैं उतार चढाव,
में तुझको कैसे पढूंगा, मुझे किताब तो दे.

जवान आँखों के जुगनू चमक रहे होंगे,
अब अपने गाँव में अमरुद पक रहे होंगे.
भुलादे मुझको मगर, मेरी उंगलियों के निशान,
तेरे बदन पे अभी तक चमक रहे होंगे.

Shayari, Facebook.

Hindi Shayari
Scroll to top